शुक्रवार, 17 फ़रवरी 2012

तुमने कहा- रोना मत

समय के कुछ टुकड़ों से 
बेपनाह मुहब्बत है मुझे, 

ये वही टुकड़े हैं 
जो कभी 
तुमने मेरे लिए जिए 
या मैंने  तुम्हारे लिए
अब चाहती तो हूँ कि
तू मेरे पास रहे ,
पर कैसे मै,
जाने भी न दूं तुझे;

ह्रदय एक झील था अब  तक  
अब नदी है अल्हड़
किसी सागर के लिए
अधैर्य है थोडा
फिर भी न चाहूंगी कि
तू कभी
मेरे लिए भी झुके,

तेरी उनींदी आखों में
देखूं खुद को
तो सब होश खो जाते हैं
और तू अगर छू  ले
तो मेरे लम्हें
सब रह जाते हैं रुके;


तुम यहाँ
मुझमे रह जाओगे
और मै वहां तुझमे
इसलिए
तुम जाओ इसके पहले
क्षणों में जला दो 
ऐसा दीपक
जो कभी न बुझे,

तुमने कहा- रोना मत
तो पलकों के मोती
आखों की सीप में
बंद ही रखूंगी
पर कहो कैसे
मै  यूँ ही
विदा  दूं तुझे,

समय के कुछ टुकड़ों से
बेपनाह मुहब्बत है मुझे
















22 टिप्‍पणियां:

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

उनको ऐसे ही सहेज कर रखना होगा..

Shakti Suryavanshi ने कहा…

तुम यहाँ
मुझमे रह जाओगे
और मै वहां तुझमे
इसलिए
तुम जाओ इसके पहले
क्षणों में जला दो
ऐसा दीपक
जो कभी न बुझे...gudiya too gud:):):)

Shakti Suryavanshi ने कहा…

samay ke tukde...chhona na ise bahut komal hai ye...

Amit Chandra ने कहा…

बेहद कोमल भाव लिए एक प्यारी सी कविता.

आभार.

भारतीय नागरिक - Indian Citizen ने कहा…

हर किसी के सपने सच हो जाएँ, यही दुआ है..

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

खूबसूरती से लिखे एहसास

Sunil Kumar ने कहा…

बहुत खुबसूरत कोमल अहसास सुंदर अभिव्यक्ति बधाई

Shah Nawaz ने कहा…

बहुत ही बेहतरीन लिखा है रश्मि जी...

कई महत्त्वपूर्ण 'तकनिकी जानकारियों' सहेजे आज के ब्लॉग बुलेटिन पर आपकी इस पोस्ट को भी लिंक किया गया है, आपसे अनुरोध है कि आप ब्लॉग बुलेटिन पर आए और ब्लॉग जगत पर हमारे प्रयास का विश्लेषण करें...

आज के दौर में जानकारी ही बचाव है - ब्लॉग बुलेटिन

ana ने कहा…

behatarin likha hai apne

alok ने कहा…

Atyant hradyasparshi aur snehil bhav hain...

alok ने कहा…

Atyant hradyasparshi aur snehil bhav hain...

सुमन'मीत' ने कहा…

पहली बार आपके ब्लॉग पर आई हूँ ..आपके लिखे लफ्ज मनन को छू गए ...अब आना होता रहेगा

Rashmi Savita ने कहा…

thanx a lot... will wait :)

Rashmi Savita ने कहा…

thanx :)

Rashmi Savita ने कहा…

thnx :)

Rashmi Savita ने कहा…

thanx Shakti :)

Rashmi Savita ने कहा…

thanx mam :)

Rashmi Savita ने कहा…

:)

Rashmi Savita ने कहा…

thanx :)

nitesh sahni ने कहा…

excellent...!!! Love this precious poem... keep it on...

Rashmi Savita ने कहा…

hmm :)

anmol singh panwar ने कहा…

that is too good poem awsome i like you and your poem..